उधम सिंह नगर / लोन पर लिया था टेंपो - किश्त न भर पाने पर की आत्महत्या

चित्र प्रतीकात्मक
उधम सिंह नगर / लोन पर लिया था टेंपो - किश्त न भर पाने पर की आत्महत्या: जैसा की हमें अक्सर सुनने में आता है की कोरोना काल में आर्थिक दिक्कतों से जूझ रहे युवा हालात से लड़ने की बजाए मौत को गले लगा रहे हैं। खबरों के अनुसार अब ऊधमसिंहनगर में ही देख लें, यहां विशाल सागर उर्फ मोनू नाम के युवक ने रोजगार के लिए एक टेंपो खरीदा था, लेकिन यही टेंपो मोनू की मौत की वजह बन गया।

दरअसल टेंपो की किश्त जमा न कर पाने से निराश मोनू ने फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली। मोनू सिर्फ 25 साल का था। उसकी मौत के बाद परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। घटना रुद्रपुर के जगतपुरा आवास विकास क्षेत्र की है। यहां जगदीश लाल के बेटे मोनू ने लोन लेकर एक टेंपो खरीदा था, लेकिन काम ज्यादा अच्छा नहीं चल रहा था। टेंपो का मासिक किश्त भरने लायक रकम भी नहीं निकल पा रही थी।

किश्त जमा करने का दबाव बढ़ने लगा तो मंगलवार को मोनू ने खुदकुशी कर ली। परिजनों ने बताया कि रात को वो करीब एक बजे तक परिवार के साथ बैठा रहा था। उस वक्त भी उसे किश्त जमा करने की टेंशन सता रही थी, लेकिन परिजनों ने ये सपने में भी नहीं सोचा था कि बेटा खुदकुशी कर लेगा।

मंगलवार सुबह लगभग साढ़े चार बजे जब उसकी मां उठी तो मोनू के कमरे का दरवाजा बंद था। मां ने दरवाजा खटखटाया, लेकिन भीतर से कोई जवाब नहीं मिला। दरवाजा तोड़कर जब वो कमरे में घुसे तो अंदर मोनू की लाश फंदे पर लटकी थी। उसने कमरे के पर्दे का फंदा बनाकर फांसी लगा ली थी। बाद में परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां