कंप्यूटर डिप्लोमा होल्डर पवन ने खोल लिया सैलून, बेरोजगार युवाओ के लिए बने मिसाल

बागेश्वर हिन्दी न्यूज़: कंप्यूटर डिप्लोमा होल्डर पवन ने खोल लिया सैलून, बेरोजगार युवाओ के लिए बने मिसाल। लॉकडाउन में पूरा देश लॉक था इस दौरान लोगों को बाल कटवाने में भी परेशानी हो रही थी। इस दौरान कांडा के कांडे कन्याल निवासी पवन ने लोगों के मुफ्त में बाल काटने का कार्य किया। कांडा पुलिस को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने पवन से संपर्क किया तथा उसे प्रोत्साहित किया और आज के दिन पवन अपने पैरों में खड़ा हो रहा है। लॉकडाउन के बाद कांडा क्षेत्र हेयर सैलून वाले कारीगर घर चले गये। अब लोगों को बाल और सेविंग बनाने के लिए भटकना पड़ रहा था।

आज पवन एक मिसाल बन गये है। पवन ने कहा कि दो वर्श पूर्व उसके साथियों ने उससे नौकरी की खोज में बाहर चलने को कहा परंतु उसका मन पहाड़ से जाने को नहीं था आज पवन कांडा में अपने पैरों में खड़ा हो गया है तथा अन्य प्रवासी बेरोजगारों के लिए मिसाल बना है। यह भी पढ़ीये : कपकोट / बागेश्वर के पोस्टऑफिस में सर्वर ठप, लोगो में मायूसी

पवन ने आस पास के लोगों को परेशान देख, खुद कैंची संभाल ली। फ्री में ही सबके बाल काटने लगे। इसी समय कांडा थाने के पुलिस जवानों को भी बाल कटाने की परेशानी हो रही थी। उन्होंने पवन से सम्पर्क किया। पुलिस ने पवन को कोरोना की जानकारी देते हुए सोशल डिस्टेंस व सेनेटाइजर के इस्तेमाल को कहा। पवन ने पुलिस के जवानों के बाल काट कर 350 रूपये की पहली इनकम की तो उसने पुलिस को धन्यवाद कहा। पवन की मेहनत देखकर कांडा पुलिस के जवानों ने उसका हौसला बढ़ाया। यह भी  पढ़िये : खरीदारी करने बागेश्वर मार्केट में पहुंचे लोग, ATM कैशलेस मिले तो लौटे खाली हाथ

जिस पर पवन ने कांडा में किराये में एक दुकान खोल ली। उसकी मेहनत को देखकर कुछ व्यापारियों, आरएसएस के पदाधिकारियों व अन्य ने मदद की। पवन ने हरीश को भी हेयर कटिंग का काम सिखाया। पवन ने बताया कि उसने बचपन में तय किया था कि नौकरी या व्यापार करेंगे तो सिर्फ अपने पहाड़ पर । बताया कि वे आज तक कुमाऊं से बाहर नहीं गए है । 2019 में पवन ने कंप्यूटर में डिप्लोमा लिया। तब से वह घर पर बेरोजगारी का दंश झेल रहा था। यह भी पढ़िये : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना प्रवासियों के लिए सुनहरा अवसर : डीएम बागेश्वर