उडलगांव (बागेश्वर) में गांव वालो ने होम क्वारंटीन का किया बिरोध, जिला मुख्यालय में क्वारंटीन की मांग

उडलगांव (Bageshwar News in Hindi):  जैसा की हम सभी जानते है की covid 19 के बाद राज्य में अब तक हजारो प्रवासी लौट चुके है। बागेश्वर जिले में कोरोना संक्रमण की शुरुआत के बाद गांवों में भी लोगों की चिंता बढ़ गई है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है।

जी हां, हम बात कर रहे है रवाईखाल क्षेत्र के उड़लगांव की जहा लोगों ने बृहस्पतिवार को गांव में गाजियाबाद से लौटे एक परिवार को होम क्वारंटीन करने का विरोध कर दिया। ग्राम प्रधान, राजस्वकर्मी, रेगुलर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझाया तब जाकर मामला सुलझ पाया और लोग शांत हुवे।

दरअसल इंदिरापुरम (गाजियाबाद) से बृहस्पतिवार सुबह एक परिवार अपने घर उड़लगांव लौटा है। स्वास्थ्य जांच के बाद उक्त परिवार को होम क्वारंटीन किया गया है। गांव के लोगों ने इस परिवार के गांव में पहुंचते ही विरोध कर दिया। लोग मौके पर एकत्र हो गए।

यह भी पढ़िये : फैसला / उत्तराखंड हाईकोर्ट का बड़ा आदेश,प्रवासियों को बॉर्डर पर किया जाए क्वारंटाइन

वह होम क्वारंटीन के बजाय जिला मुख्यालय में क्वारंटीन की मांग करने लगे। ग्रामीणों का कहना था कि 14 दिन के संस्थागत क्वारंटीन के बाद ही प्रशासन गांव में रहने की अनुमति दे क्योंकि बाहर से आए लोगों को गांव में होम क्वारंटीन करने से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

आरएसआई मनोज कुमार और प्रधान मोहन सिंह परिहार के समझाने पर गांव के लोग शांत हुए। वहीं प्रवासी परिवार का कहना था कि वह लोग प्रशासन के निर्देश पर होम क्वारंटीन हैं। वह लोग क्वारंटीन के नियमों का पालन करेंगे। ग्राम प्रधान ने सरकार से गांव में क्वारंटीन और समुचित व्यवस्था के लिए बजट दिलाने की भी  मांग की।

source: amar ujala

यह भी पढिये : एक्शन / क्वारंटाइन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई: सीएम रावत