सरकारी तंत्र को दिखाया आइना, इस गांव के लोगो ने बना डाली सड़क

एक बार फिर सरकारी महकमों की लेट लतीफी फिर देखने को मिली। कई बार गुहार लगाने के बावजूद जब तंत्र ने ध्यान नहीं दिया तो ग्रामीणों ने श्रमदान कर तीन मीटर चौड़ी एक किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण कार्य स्वयं कर लिया।

मिली जानकारी के अनुसार मामला रानीखेत तहसील के सुदूरवर्ती मुझोली के तोक गैलेख का है। सड़क के अभाव में ग्रामीणों को तीन से चार किलोमीटर पैदल दूरी तय करनी पड़ रही थी। लॉकडाउन के चलते इन दिनों बाहर से भी लोग पहुंचे हैं।

यह भी पढ़िये :  बागेश्वर / कांडा खेत जा रहे युवक पर जंगली सुअर का हमला, मौके पर मौत

बता दें कि ग्रामीण गोलुछिन के पास से गैलेख तक बटिया के चौड़ीकरण की मांग लंबे समय से कर रहे थे, लेकिन आज तक कोई करवाई नहीं हो सकी। क्षेत्र पंचायत सदस्य दीपक कन्नू सह ने बताया लॉकडाउन में ग्रामीण युवाओं ने तीन मीटर चौड़ी एक किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण श्रम दान करके सरकारी व्यवस्था को आइना दिख दिया।

इस सड़क का निर्माण कार्य पिछले कई दशकों से लटका हुआ था। सड़क बनने से क्षेत्र के 40 परिवारों को लाभ मिलेगा। ग्राम प्रधान रेनू देवी, दीप चन्द्र, किशोर कुमार, पंकज कुमार, चंदन राम, दिनेश कुमार आदि ने भी युवाओं के प्रयासों को सराहा है, और बताया की इस सड़क  लोगो को काफी सुविधा होगी तथा लोगो को बाजार आने - जाने में समय की बचत होगी।

यह भी पढ़िये : कपकोट में शराब की तस्करी, 55 पेटी अंग्रेजी शराब के साथ एक गिरफ्तार