रानीखेत के सील एरिया में अभी कोई ढील नहीं दी जाएगी, वीडियो कॉलिंग से रखी जा रही नजर

चित्र - प्रतीकात्मक 
अल्मोड़ा / रानीखेत : कोरोना वाइरस के चलते रानीखेत में सील किये गए कुरैशियान मोहल्ला, सुदामापुरी और लोअर खड़ीबाजर क्षेत्र में पुलिस और प्रशासन अभी फिलहाल ढील देने के मूड में नहीं है। वहां क्वारंटीन किये गए लोगों पर वीडियो कॉलिंग के माध्यम से नजर रखी जा रही है। प्रशासन संक्रमित एरिया में नजर बनाये हुवे है।

आबकारी, शिव मंदिर रोड सहित तमाम स्थानों पर बेरिकेडिंग लगाई गई है। यहां बिना इजाजत किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। आवश्यक कामों से निकल रहे लोगों को भी पंजीकृत किया जा रहा है। आसपास के दुकानों को भी तय किये गए समय में ही खोला जा रहा है।

यह भी पढ़िये : मुंबई में फंसे बागेश्वर के 22 युवक, घर वापसी की लगा रहे गुहार

दूसरी तरफ तीनों इलाकों में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है, जिसमें स्वास्थ्य विभाग की चार टीमें लगाई गई हैं। राशन भी लोगों को मोहल्लों में ही उपलब्ध कराया जा रहा। रसोई गैस के सिलिंडर मोहल्ले में ही भेजे जा रहे हैं। प्रशासन खासतौर पर हॉट स्पॉट कुरैशियान मोहल्ले में ड्रोन से भी नजर रखे है। एसडीएम अभय प्रताप ने बताया कि क्वारंटीन की अवधि अब 28 दिन की गई है।
यह भी पढ़िये : बागेश्वर / उत्तराखंड में कुदरत की मार ने तोडी़ किसानों की कमर, मूसलाधार बारिश में गेहूँ समेत कईं फ़सलें नष्ट, मुआवजे की मांग