गांव के लोगों ने दिलाई दशरथ मांझी की याद, लॉकडाउन में बना डाली सड़क


नैनीताल:  यहाँ इस जिले में नौकुचियाताल के खड़की गांव के ग्रामीणों ने लॉक डाउन के दौरान मिली छूट में श्रमदान कर अपने गांव को जाने वाले संकरे मार्ग को मोटर मार्ग में बदल दिया। लॉक डाउन में सवेरे सात बजे से एक बजे तक छूट के दौरान ग्रामीणों ने जरूरत का सामान खरीदने के बजाए मिलकर सड़क बना दी।

ह भी पढिये : फर्जी दारोगा गिरफ्तार, लॉकडाउन में दारोगा बन पुलिसकर्मियों को लगाता था फटकार

सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए गांव के युवकों ने सड़क निर्माण में इस्तेमाल होने वाले औजार से रास्ता बनाना शुरू किया। मुख्य सड़क से खड़की गांव की दूरी तीन किलोमीटर की है जिसे ग्रामीणों ने तैयार कर दो पहिया वाहन के लिए रास्ता तैयार कर लिया है और जल्द हल्के चौपहिये भी चल पाएंगे।

यह भी पढ़िये :नैनीताल जिले के इस गांव ने किया ये शानदार काम , सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दी बधाई

ग्रामीणों ने बताया कि कुछ वर्ष पूर्व ब्लाक प्रमुख ने छः लाख की धनराशी इस रास्ते के लिए दी थी, लेकिन इसका रखरखाव नहीं हो सका। मार्ग, झाड़ियां और पहाड़ से गिरी मिट्टी के कारण बंद हो गया था। आज ग्रामीणों ने लॉक डाउन के समय इसको खोल दिया और गांव तक दोपहिया पहुंचा दिया. छोटी गाड़ियों के लिए भी गांव के युवाओं ने मार्ग के चौड़ीकरण का काम किया।

क्षेत्र में लगभग 40 परिवार रहते हैं जिनके युवाओं ने परेशानी से बचने के लिए सोशल डिस्टन्सिंग के नियमो को धयान में रखते हुवे इस सड़क का निर्माण किया गया।
source:khabar uttrakhand

यह भी पढ़िये : हरिद्वार : गर्भवती महिला को अस्पताल में भर्ती करने से मना किया, भेज दिया क्वारंटाइन सेंटर