उत्तराखंड: दहेज हत्या के आरोप में पांच पर केस दर्ज, संदिग्ध हालत विवाहिता की मौत


उत्तराखंड में टिहरी जिले के जाखणीधार ब्लॉक मे पिपोला गांव की 22 वर्षीय विवाहित महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पिपोला गांव निवासी जीत सिह की पत्नी वंदना देवी का शव बीती रात को कमरे मै लगे पंखे के कुंडे से लटका मिला था।

मृतका के पिता ने अपनी बेटी के हत्या की आशंका जताते हुए उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की थी। आपको बता दें कि मृतका वंदना सिर्फ 22 साल की थी और अपने पीछे अपनी छोटी सी तीन माह की बच्ची को छोड़ कर गयी है।

यह भी पढ़िये : देहरादून से पैदल बागेश्वर पहुंचे दो लोग, होम क्वारंटीन में रखे

राजस्व पुलिस ने मृतका के पति सहित परिवार के पांच लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना की तह में जाने के लिए राजस्व पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई है। राजस्व पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

बालगंगा के तहसीलदार राजेंद्र सिंह रावत ने बताया कि मृतका के पिता लक्ष्मीनाथ की तहरीर के आधार पर राजस्व उप निरीक्षक क्षेत्र बहेड़ी में मृतका के पति, सास, ससुर और दो ननदों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। घटना की जांच पड़ताल की जा रही है।

यह भी पढ़िये : सितारगंज: लॉकडाउन में काम न मिलने के कारण उत्तराखंड में युवक ने जहर खाकर दे दी जान

पुलिस एक तरफ से इस मामले की जांच कर रही है लेकिन मामले में शक के घेरे में पति और अन्य घरवाले ही हैं। वंदना के पति जीत सिंह कोहली जो कि पेशे से अध्यापक हैं। पिता पर आरोप है कि वो पत्नी से मार पीट करता था। परिवार का कहना है कि उनकी बेटी चुप रहकर सब कुछ सहन करती थी।

आरोप लगाया गया है कि मारपीट की ये घटना शादी के 2 दिन बाद से ही शुरू हो गयी थी। सबसे बड़ा प्रश्न चिह्न उस 3 महीने की बेटी पर लग गया है, जिसे वंदना अपने पीछे अकेला छोड़ गई है।

यह भी पढ़िये : जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को किया ढेर, सर्च अभियान जारी